गोरखपुर

पिपराइच में गन्ना शोध संस्थान के लिए भूमि की मांग उठी

अरविन्द श्रीवास्तव 
गोरखपुर: पिपराइच चीनी मिल के चालू होने से पहले मिल का निरीक्षण करने आये प्रदेश के मुखिया योगी आदित्य नाथ से स्थानीय भाजपा व व्यापार मण्डल के नेताओं ने पिपराइच क्षेत्र में ही गन्ना शोध संस्थान के लिए भूमि की मांग की।

भाजपा नेता वीरेन्द्र पाठक व पिपराइच व्यापार मण्डल अध्यक्ष महेन्द्र तिवारी द्वारा दिये गये मांग पत्र को स्वीकार करते हुए सीएम योगी ने गन्ना शोध संस्थान के लिए जमीन तलाशने और कैबिनेट में बजट की व्यवस्था को पास कराने का आश्वासन दिया। सीएम ने मण्डलायुक्त को पिपराइच कस्बे के निकट ओवर ब्रिज समेत तकरीबन 25 किमी लम्बे पिपराइच हाटा मार्ग व तकरीबन 12 किमी लम्बे पिपराइच परतावाल बाजार मार्ग के चौड़ीकरण का प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया।

प्रदेश की 119 चीनी मिलों को 25 नवम्बर तक हर हाल में चालू करना अनिवार्य है। रमाला चीनी मिल के जीर्णोद्धार के अलावा पिपराइच बस्ती की चीनी मिलों का चालू होना भी फरवरी 2019 तक उतना ही अनिवार्य है।

मीडिया से बातचीत में सीएम ने बताया कि पिपराइच चीनी मिल के चालू होने से क्षेत्र के 282 गांवों के गन्ना किसानों को होने सीधे फायदे के अलावा देवरिया महाराजगंज व कुशीनगर तक के गन्ना किसानों को फायदा पहुंचेगा। इसके अलावा पांच हजार बेरोजगारों को भी रोजगार की सम्भावना बन चुकी है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *