गोरखपुर

सपा का विरोध प्रदर्शन: जनता को जताने में सफल, लेकिन पुतला फूकने में विफल

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: सपा मुखिया व प्रदेश के पूर्व मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव को प्रदेश सरकार द्वारा खनन मामले में घसीटने की कोशिश का सपा कार्यकर्ताओं ने जम कर प्रतिकार किया। शास्त्री चौराहे से कलेक्ट्रेट परिसर के गेट नम्बर दो तक यह हाई प्रोफाइल ड्रामा लगातार दो घण्टे तक चला और उस समय समाप्त हुआ जब पुलिसकर्मियों ने आखिरकार वह पुतला खोज कर अपने कब्जे में कर लिया जिसे वे दो घण्टे से तलाश रहे थे।

इस दौरान दो घण्टे तक यातायात संचलन पूरी तरह ध्वस्त दिखा। राहगीरों को अपने विरोध प्रदर्शन को जताने में भी सपा कार्यकर्ता पूरी तरह से सफल रहे। आपको बता दें कि खनन मामले में सीबीआई जॉच मे कभी भी पूर्व मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव को बुलाया जा सकता है। इस बात की भनक मिलते ही कार्यकर्ता उबल पड़े, शास्त्री चौराहे पर कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी गगनभेदी नारे लगाए।

पुलिस कर्मियों के कब्जे मे पुतला पहुंचते ही सपाई एक बार फिर से आक्रोशित होकर नारेबाजी करने लगे और सड़क पर ही बैठ गये।पूर्व जिलाध्यक्ष समेत कई सपाइयों को पुलिस ने बलपूर्वक उठा कर सड़क खाली कराया। पुलिस व सपाइयों के बीच गुत्थम गुत्था देखते ही बनता था। एक समय सड़क से उठा कर पूर्व जिलाध्यक्ष रजनीश यादव को ले जाती कैण्ट पुलिस के कब्जे से सपा कार्यकर्ताओं ने बड़े ही साहसिक तरीके से छुड़ाया।विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम का नेत्रत्व जिलाध्यक्ष प्रहलाद यादव ने किया।

इस मौके पर महिला सभा की सपा पर्देश सचिव सुशीला भारती, हाजी शकील अंसारी,करुणानिधान, शब्बीर कुरैशी, कपिल यादव, राजू तिवारी आदि समेत सैकडों कार्यकर्ता मौजूद थे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *