Top News

2019 लोक सभा चुनाव: बसपा-सपा गठबंधन का हुआ ऐलान, 38-38 सीटों पर लड़ेंगी दोनों पार्टियां

आशुतोष ओझा
लखनऊ:
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उत्तर प्रदेश की दो प्रमुख पार्टियां सपा और बसपा ने गठबंधन का औपचारिक ऐलान किया। एक प्रेस कांफ्रेंस में दोनों पार्टियों के मुखिया मायावती और अखिलेश यादव ने घोषणा गठबंधन की घोषणा की। 2019 के आम चुनाव में सपा और बसपा दोनों प्रदेश में 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।

इससे पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी सुप्रीमो मायावती आज दोपहर 12 बजे एक साझा प्रेस कॉन्फ़्रेंस करने के लिए एक साथ पहुंचे और गुलदस्ते से एक-दूसरे का स्वागत किया।

चार अन्य सीटों में संभवतः दो पर आरएलडी और बाकि अन्य दो सीटों पर किसी और दल के लड़ने की सम्भावना है। हालांकि, आरएलडी 5 सीटों की मांग कर कर रही थी। कांग्रेस की परंपरागत सीट अमेठी और रायबरेली में महागठबंधन कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा।

सबसे पहले बसपा सुप्रीमो मायवाती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया और कहा कि मोदी-शाह के गुरु चेले की नींद उड़ाने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस है। इस दौरान उन्होंने सीटों का ऐलान करते हुए कहा कि दोनों दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। रायबरेली और अमेठी की सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी गई है।

उन्होंने कहा कि लखनऊ गेस्ट हाउस कांड से ऊपर जनहित है। एक सवाल को जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि सपा और बसपा का यह गठबंधन लंबा चलेगा। यूपी चुनाव के अलावा यह विधानसभा चुनाव तक भी चलेगा।

वहीँ अखिलेश यादव ने कहा कि सपा के सभी कार्यकर्ता समझ लें, मायावती जी का अपमान मेरा अपमान है। भारत मां का कोई भी बेटा अगर ऐसा करता है तो वह गलत है। उन्होंने कहा कि जख्मी लोगों के इलाज से पहले आज उनकी जाति पूछी जा रही है, धर्म के नाम पर भाजपा समाज में नफरत बढ़ा रही है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार में बेकसूर लोगों के एनकाउंटर हो रहे हैं। बीजेपी ने समाज में नफरत बढ़ाई है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *