Top News लखनऊ

बजट 2019 : अंतरिम बजट पर बोला लखनऊ

आशुतोष वत्स 

लखनऊ : सुबह ठीक 11 बजे लोकसभा में जोशीले अंदाज में पीयूष गोयल ने बोलना शुरू किया। प्रधानमंत्री मोदी भी लोकसभा में अपने मंत्री का हौसला बढ़ाते हुये कई बार दिखे। पीयूष गोयल की हर लाइन के बाद मोदी सीट को थपथपाते हुये अपनी स्वीकृति भी देते। आइए आपको पहले बताते है कि आज के बजट में क्या बोले केंद्रीय मंत्री।

पीयूष गोयल लोक सभा में बोले…..

  • किसानों के लिए खास बजट,
  • किसानों के खाते मे सीधे 6 हजार करोड़ रुपये जाएंगे,
  • सरकार शुरू करेगी काम धेनु योजना,
  • गो माता के लिए सरकार पीछे नहीं हटेगी,
  • पशु पालन और मत्स पालन के लिए ब्याज मे 2 प्रतिशत की छूट,
  • कामधेनु योजना पर 750 करोड़ खर्च होगा,
  • वेतन आयोग की सिफ़ारिश को जल्द लागू किया जाएगा,
  • श्रमिकों का बोनस 7 हजार किया,
  • 21 हजार पाने वाले को मिलेगा बोनस,
  • श्रमिकों की मौत पर 6 लाख का मुआब्जा,
  • 10 करोड़ मजदूरों को मिलेगा इसका लाभ,
  • गर्भवती महिलाओं के लिए मात्रत्व योजना,
  • किसान क्रेडिट कार्ड मे 2 प्रतिशत की छूट,
  • मनरेगा के लिए 6000 करोड़, 1 करोड़ तक की ऋण योजना,
  • आपदा पीड़ित किसानों के लिए 5 प्रतिशत की ब्याज मे छूट,
  • OROP पर 35000 करोड़ का बजट,
  • रक्षा बजट 3 लाख करोड़ हुआ,
  • सस्ते अनाज के लिए 7 हजार करोड़,
  • 27 किलोमीटर हाइवे रोज बनेगा, सड़क योजना के लिए 17 हजार करोड़ का बजट,
  • मुद्रा योजना के लिए 56 करोड़ का लोन,
  • फिल्म शूटिंग के लिए सिंगल विंडो क्लेयरेंस योजना,
  • टैक्स देने वालों की संख्या 80 प्रतिशत बढ़ी, मै ईमानदार करदाताओं का सम्मान करता हूँ,
  • 24 घंटे मे आईटी रिटर्न की प्रोसेसिंग,
  • गरीबो के लिए 10 फीसदी आरक्षण की योजना,
  • इस साल जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़,
  • घर खरीदने वालों पर जीएसटी की छूट,
  • 1 लाख 36 करोड़ का टैक्स नोटबंदी के बाद मिला
  • 75000 करोड़ किसान सम्मान निधि,
  • मिडिल क्लास के लिए 5 लाख से बढ़ाकर 5 लाख हुआ,
  • महिलाओं के लिए 40 हजार तक के ब्याज पर कोई टीडीएस नहीं।

बजट पर बोला लखनऊ

दीपिका चतुर्वेदी (वर्किंग वुमन) : 

बीजेपी ने कोशिश की है कि सब आय वर्ग को टच किया जाए और एक सन्तुलन बना रहे इकोनॉमी में। लेकिन ये तो समय ही तय करेगा कि वे कितने कामयाब हुये। लेकिन निश्चित तौर पर महिलाओं के लिये खुशखबरी है।

पूजा सिंह (आर्टिस्ट) : 

ये इलैक्शन को जीतने वाला गेम बजट है। बीजेपी ने कोशिश की है कि किसानों और मध्यम वर्ग को ही टार्गेट किया जाय। छात्रों के लिए कुछ नहीं है आज के बजट में, हाँ महिलाओं के लिए जो आज नया बजट लाया गया है उससे थोड़ा असर पड़ेगा उन पर।

दीपक शर्मा (बिल्डर) : 

मेरे नज़रिये से यह अंतरिम बजट सत्ता में पुनः वापसी का भागीरथी प्रयास हैं, पर अब बहुत देर हो चुकी है। किसान बदहाल हैं, पढ़े लिखे युवा सड़क पर हैं और मैं एक सामाजिक और राजनैतिक व्यक्ति के साथ साथ एक व्यापारी भी हूँ। मै इस अंतरिम बजट की घोर निंदा करता हूँ।

अजेश जायसवाल (होटल व्यवसायी) : 

मध्यम वर्गीय लोगों के लिए एक बेहतरीन बजट है ये। किसानों को फायदा मिलेगा। महिलाओं को 40 हजार तक के लोन पर ब्याज नहीं देना होगा, ये भी एक अच्छा कदम है सरकार का। कुल मिलाकर कहें तो सैलरी पाने वालों के लिए ये एक आदर्श बजट है।

शिव कुमार यादव (प्राइवेट नौकरी) :  

टैक्स में पाँच लाख तक छूट मतलब अगर आप की कमाई (शुद्ध कर योग्य कमाई) पाँच लाख रुपए तक है तभी आपको कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा। अगर कमाई पाँच लाख से ज्यादा है तो छूट ढाई लाख तक ही मिलेगी। समझ लीजिए।और टेक्स की मार भी 20 फीसदी। बजट में सरकार ने चुनाव को देखते हुए मात्र चुनावी घोषणा पत्र की तरह ही बजट पेश की है। मध्यमवर्ग बेरोजगारों के लिए मात्र छलावा है ये लुभावना बजट।

ये भी पढ़ें : मोदी सरकार के बजट पर कुमार विश्वास ने ली चुटकी, मीडिया को लताड़ा 

ये भी पढ़ें : प्रियंका की ‘संजीवनी’ से उप्र में जिंदा हो सकती है कांग्रेस

ये भी पढ़ें : महिलाओं को 40 हजार तक के ब्याज पर कोई टीडीएस नहीं

ये भी पढ़ें : 15 अरब के घोटाले की जांच में ED ने लखनऊ मेँ मारे ताबड़तोड़ छापे

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *