गोरखपुर देवरिया

देवरिया अभी भी खोज रहा है ऐसा सांसद जो विकास की बहा सके गंगा

वेद प्रकाश दुबे
देवरिया: पूर्वी उत्तर प्रदेश के पिछड़ा जिला के रूप में जाने जाने वाले देवरिया में अभी और विकास की दरकार है। ऐसे में इसी वर्ष होने वाले चुनाव में यहां की जनता विकास कराने वाले पार्टी और नेता को तरजीह देने का मूड बना रही है।

देवरिया संसदीय क्षेत्र के बीते करीब बीस-पचीस वर्षों पर नजर डाले तों यहां से भाजपा के श्रीप्रकाश मणि दो बार सांसद रहे। इसके बाद सपा के स्व.मोहन सिंह सांसद रहे। इसी दौर में बसपा से गोरख प्रसाद जायसवाल सांसद रहे। वर्तमान में भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र यहाँ से मौजूदा सांसद हैं।

स्थानीय जनता का कहना है कि पूर्व रहें सांसदों ने जितना विकास इस पिछड़े जनपद का करना चाहिये था, वह नहीं कर सके। एक-एक कर यहां की चीनी मिले बंद होती गई। स्वच्छ पेयजल और साफ सफाई के अभाव में यहां के मासूम असमय ही इंसेफेलाइटिस बीमारी के चपेट में आने से काल की गाल में समाते चले गये। बिजली और सड़कों की हालत भी यहां बहुत अच्छी नहीं रही थी। यहां के नौजवान रोजगार के अभाव में रोजगार के लिये पलायन करते रहे हैं।

पूर्व में रहे सांसदों ने देवरिया के विकास को पूरी तरह से तरजीह ने देने के कारण इस क्षेत्र को जो विकास होना चाहिये था, वह नहीं हो सका। स्थानीय जनता का मानना है कि देवरिया में अभी भी मुलभुत सुविधाओं का घोर आभाव है और इस क्षेत्र के और विकास की जरूरत है।

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र यहां से सांसद बने और उनके यहां से सांसद बनने के बाद देवरिया क्षेत्र को कुछ विकास की गति मिली है। श्री मिश्र ने यहां का सांसद बनने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र में सड़क और राष्ट्रीय राजमार्गों को बनवा कर विकास की गति देने का प्रयास किया है। उन्होंने यहां के बेरोजगार नौजवानों के लिये एक बार नहीं करीब तीन बार देश की विभिन्न कम्पनियों को बुलाकर रोजगार मेले के माध्यम से यहां के नौजवानों को रोजगार दिलाने का काम किया।

क्षेत्र की जनता का कहना है कि श्री मिश्र इस उपेक्षित क्षेत्र में मेडिकल मेडिकल कालेज का शिलान्यास कराकर लोगों के स्वास्थ्य के द्रष्टिकोण से बहुत बड़ा काम किया है। जबकि इसके पहले यह क्षेत्र विकास के द्दष्टिकोण से काफी पीछे चल रहा था।

स्थानीय निवासी पूर्व उपाध्यक्ष सिविल कोर्ट एडवोकेट आद्या कुमार पाण्डेय ने कहा कि अगर देवरिया संसदीय क्षेत्र के बीते बीस सालों पर नजर डाले तो यहां से कई सांसद विभिन्न समयों में रहे। लेकिन यहां भाजपा से दो बार अलग अलग समयों मे सांसद रहे श्रीप्रकाश मणि ने यहां कुछ विकास कार्यों को कराया जो कुछ दिखाई पड़ते रहे थे।

श्री पाण्डेय का कहना है कि सपा के मोहन सिंह और बसपा के गोरख जायसवाल ने जो कुछ विकास कार्य कराया वह जनता को नहीं दिख सका। मौजूदा सांसद कलराज मिश्र ने देवरिया में मेडिकल कालेज का शिलान्यास, केन्द्रीय विद्यालय का शिलान्यास, पासपोर्ट आफिस का खुलवाने के साथ सड़क आदि देकर विकास कार्य कराया है।

हालांकि स्थानीय लोगों के कलराज मिश्रा से भी जैसी उम्मीद थी उस पर वो खरे नहीं उतर सके। युवाओं का मानना है कि केंद्रीय मंत्री रहते कलराज मिश्र कम से कम इस क्षेत्र में रोजगार परक योजनाओं को अमलीजामा पहना सकते थे, जिससे नौकरी की तलाश में सुदूर क्षेत्र जाने वाले यहाँ के युवाओं का पलायन रुकता। युवाओं का कहना है कि ऐसा नहीं हो सका। वैसे लोग इस बात को जरूर मान रहे हैं कि कलराज मिश्र ने जितना काम अबतक देवरिया में कराया है शायद इससे पहले किसी सांसद ने नहीं कराया है।

कुल मिला कर यह कहा जा सकता है कि यहाँ की जनता के पैमाने पर अब तक कोई भी सांसद पूरी तरह से खरा नहीं उतर सका है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा आने वाले चुनाव में पार्टियां किसे अपने उमीदवार बना कर मैदान उतारती हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *