Top News कानपुर

इंदिरा गांधी की हत्या के 35 साल बाद योगी ने लिया अहम फैसला

लखनऊ। सन 1984 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या होने के बाद उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए सिख विरोधी दंगे को लेकर यूपी सरकार ने एक बड़ा एक्शन लिया है।

बीते बुधवार को योगी आदित्यनाथ की सरकार ने सिख दंगों की जांच कराने का आदेश दिया है। इसके लिए SIT का गठन किया गया है। एसआईटी की अगुवाई पूर्व डीजी अतुल करेंगें।

पूर्व डीजी अतुल के अलावा इस एसआईटी मे रिटायर्ड जज सुभाष चन्द्र अग्रवाल, रिटायर्ड एडी अभियोजन योगेश्वर कृष्ण श्रीवास्तव, एक एसएसपी और एएसपी भी सचिव के तौर पर शामिल किया गया है।

आपको बता दें, 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की दो सिख अंगरक्षकों द्वारा हत्या किए जाने पर दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में इसका गुस्सा सिखों पर उतारा गया था।

इंदिरा की हत्या के बाद पूरे देश में हिंसा की स्थिति पैदा हो गयी थी। दिल्ली समेत देश के अन्य जगहो पर भी हिंसा हुयी थी। इसी दौरान कानपुर, दिल्ली, समेत देश के बड़े बड़े शहरों में सिख विरोधी दंगे हुये थे।

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

ये भी पढ़ें : World Cancer Day : पढ़िये कैंसर को चकमा देने वाले एक बनारसी युवा की कहानी

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *