फाइनल रिपोर्ट स्पेशल

कैफीन की खोज करने वाले वैज्ञानिक का आज जन्मदिन है, जानिए उनके बारे में

विनीत बाजपेई

लखनऊ : कैफीन की खोज करने वाले जर्मन रसायन वैज्ञानिक फ्रेडलिब फर्डिनेंड रुंज का आज 225वां जन्मदिन है। उनका जन्म 8 फरवरी 1794 को हैम्बर्ग में हुआ था। कैफीन के साथ-साथ उन्होंने कोलतार डाई की भी खोज की थी। वह ऐनालिटिकल केमिस्ट थे यानी चीजों की रासायनिक खासियत के बारे में पता लगाते और बताते थे। उन्होंने बर्लिन में औषधि की पढ़ाई की और उसके बाद जेना की यूनिवर्सिटी में चले गए। वहां उन्होंने प्लांट केमिस्ट्री पर अपना ध्यान लगाया। 1822 में उन्होंने पौधों से निकलने वाले जहरीले रस पर अपनी पीएचडी पूरी की।

जब फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज जेना यूनिवर्सिटी के कैमिस्ट जोहान वोल्फगैंग के अंडर पढ़ाई कर रहे थे तो उनको बेल्डोना पर फिर प्रयोग करने को कहा गया और कॉफी का विश्लेषण करने के लिए प्रोत्साहित किया गया जिसके बाद उन्होंने कुछ ही महीनों में कैफीन का आविष्कार किया। डॉक्टोरेट पूरा करने के बाद फ्रेडलीब पोलैंड की एक यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बन गए। लेकिन कुछ समय बात उन्होंने ये नौकरी छोड़ दी।

इसके बाद उन्होंने 1833 में एक कंपनी में जॉब कर ली। कंपनी में उनको टेक्निकल डायरेक्टर बनाया गया। उनको वहां काम सौंप गया कि पता लगाओ तारकोल का कहां-कहां इस्तेमाल हो सकता है। उसका पता लगाने की चक्कर में उन्होंने काम की 2 और चीजें खोज लीं। उन दोनों का नाम है फेनॉल और एनिलिन। कैफीन के अलावा फ्रेडलिब ने कोलतार डाई की भी खोज की जिसकी सहायता कपड़ों में रंगाई का काम किया जाता है। इतना ही नहीं वे कुनैन के आविष्कारक भी कहे जाते हैं। कुनैन वह पदार्थ है जिसकी मदद से मलेरिया के इलाज की दवाईयां बनाई जाती है। इन सबके अलावा उन्होंने चुकंदर के रस से चीनी निकालने की प्रक्रिया का भी इजाद किया था।

ये भी पढ़ें : बीते 20 सालों में इन 11 सीटों पर नहीं खुला है सपा-बसपा का खाता

ये भी पढ़ें : रोज़ डे पर काँग्रेस ने नेहरू पर किया बड़ा खुलासा

ये भी पढ़ें : मायावती अपने नाम से पहले सुश्री शब्द का प्रयोग करती हैं, जानिए सुश्री क्या है ?

ये भी पढ़ें : यूपी बजट 2019-20 Live : गोरखपुर, बनारस और सैफई के लिए बड़ी खबर

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

ये भी पढ़ें : World Cancer Day : पढ़िये कैंसर को चकमा देने वाले एक बनारसी युवा की कहानी

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *