Top News

प्रियंका गांधी से मिलने से पहले कार्यकर्ताओं से फॉर्म में भरवाई जा रही ये जानकारियां

लखनऊ : प्रियंका गाँधी 11 फरवरी को हुए रोड शो के बाद पूरी तरह से एक्टिव हो गयी हैं। वह लगातार कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रही हैं। पहले दिन की बैठक सुबह साढ़े पांच बजे खत्म करने के बाद प्रियंका दूसरे दिन की बैठक शुरू कर चुकी हैं। वह हर जिले के कार्यकर्ताओं से मीटिंग कर रही हैं। इस दौरान प्रियंका से मिलने आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से एक फॉर्म भरवाया जा रहा है जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

इस फॉर्म की दिलचस्प बात यह है कि इस फॉर्म में कार्यकर्ताओं के वॉट्सऐप नंबर, उप-जाति और ट्विटर हैंडल का ब्योरा मांगा जा रहा है। कार्यकर्ताओं द्वारा भरवाए फॉर्म में सोशल मीडिया अकाउंट्स से जुड़ी जानकारियां पूछना इस बात का साफ संकेत है कि प्रियंका यह जान चुकी हैं कि लोकसभा की जंग जीतने के लिए सोशल मीडिया कितना जरूरी है। इसलिए इस प्लैटफॉर्म का बड़े स्तर पर इस्तेमाल करने पर जोर दे रही हैं।

कार्यकर्ताओं से जो फॉर्म भरवाया जा रहा है उसमें नाम, पते के साथ एक कॉलम में पूछा गया है कि क्या आप वॉट्सऐप या ट्विटर पर हैं? अगर हैं तो वॉट्सऐप नंबर और ट्विटर हैंडल के बारे में बताइए। हालांकि यह कॉलम ऑप्शनल है लेकिन माना जा रहा है कि यूपी कांग्रेस में ऐसा पहली बार हुआ है जब कार्यकर्ताओं से सोशल मीडिया पर सक्रियता पर सवाल पूछे जा रहे हैं।

प्रियंका ने दो दिन पहले ज्वाइन किया ट्विटर

दिलचस्प यह है कि खुद प्रियंका का ट्विटर हैंडल भी दो दिन पहले ही बना है, जिसपर अभी तक उन्होंने कोई भी ट्वीट नहीं किया है। ऐसा लग रहा है कि अपनी परंपरावादी सोच से आगे बढ़ते हुए कांग्रेस अब तेजी से सोशल मीडिया के महत्व को समझ रही है और इस पर सक्रिय भी है। बीजेपी की ही तर्ज पर कांग्रेस ने भी अपने सोशल मीडिया सेल बना लिए हैं और उसके अधिकतर नेता अब फेसबुक ट्विटर पर सक्रिय भी नजर आते हैं।

फॉर्म में सोशल मीडिया अकाउंट्स के अलावा जाति और उप-जाति भी पूछी गई है। यानी कांग्रेस यह समझ चुकी है कि बिना कास्ट फैक्टर को पैमाना बनाए यूपी में चुनाव जीतना मुश्किल है। फॉर्म में एजुकेशन और पूर्व में पार्टी के किसी पद पर रहने के सवाल भी किए गए हैं।

ये भी पढ़ें : बीते 20 सालों में इन 11 सीटों पर नहीं खुला है सपा-बसपा का खाता

ये भी पढ़ें : रोज़ डे पर काँग्रेस ने नेहरू पर किया बड़ा खुलासा

ये भी पढ़ें : मायावती अपने नाम से पहले सुश्री शब्द का प्रयोग करती हैं, जानिए सुश्री क्या है ?

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

ये भी पढ़ें : World Cancer Day : पढ़िये कैंसर को चकमा देने वाले एक बनारसी युवा की कहानी

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *