खेल

IND vs NZ : आखिरी मैच में दिनेश कार्तिक ने क्रुणाल पांड्या को एक रन लेने से क्यों किया था मना ?

लखनऊ : बीते रबिवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच हेमिल्टन में टी20 सीरीज का तीसरा मुकाबला खेला गया, जो बेहद रोमांचक रहा था। भारत को आखिरी ओवर में 16 रन की ज़रूरत थी। इसी दौरान आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर क्रुणाल पांड्या ने दौड़ कर एक रन लेना चाहा लेकिन दिनेश कार्तिक ने उन्हें मन कर दिया। भारत द्वारा आखिरी मैच हारने के बाद ये बात भी खूब रही, हालाँकि अब इस बारे में दिनेश कार्तिक ने सफाई दी है।

कार्तिक का कहना है कि क्रुणाल को एक रन लेने से इनकार करने के बाद उन्हें विश्वास था कि वह छक्का मार सकते हैं। उन्होंने इस मैच में 16 गेंदों में नाबाद 33 रन की पारी खेली थी।

213 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने तीसरी टी20 और निर्णायक मैच 4 रन से गंवा दिया था। इस हार के साथ ही भारत के हाथों से सीरीज 1-2 से फिसल गई। कार्तिक ने बुधवार को पीटीआई से कहा कि मुझे लगता है कि उस स्थिति (145 रन पर छह विकेट) के बाद मैंने और क्रुणाल ने काफी अच्छी बल्लेबाजी की। हम मैच को ऐसी स्थिति में लाने में सफल रहे जहां गेंदबाज दबाव में थे। हमें काम खत्म करने का यकीन था। और उस समय (एक रन लेने से इनकार करने के बाद) मुझे विश्वास था कि मैं छक्का मार सकता हूं।

उन्होंने कहा कि मध्यक्रम के बल्लेबाज के रूप में कई बार आपको दबाव में बड़े शाट खेलने की अपनी क्षमता पर विश्वास करना होता है। उस समय अपने जोड़ीदार पर भरोसा करना भी महत्वपूर्ण है। उस मौके पर मैं उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा लेकिन क्रिकेट के खेल में ऐसी चीजें होती हैं। कार्तिक और क्रुणाल ने 28 गेंद में 63 रन की अटूट साझेदारी की लेकिन यह भारत को हार से बचाने के लिए काफी नहीं था।

यह पूछने पर कि क्या एक रन लेने से इनकार करने पर टीम प्रबंधन ने उनसे बात की, कार्तिक ने कहा कि वे सभी स्थिति से अवगत थे और जानते थे कि हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया। उस दिन हम काफी अच्छे नहीं थे। लेकिन सहयोगी स्टाफ लंबे समय से हमारे साथ है इसलिए इसे समझता है (हमारी योजना को)।

ये भी पढ़ें : बीते 20 सालों में इन 11 सीटों पर नहीं खुला है सपा-बसपा का खाता

ये भी पढ़ें : रोज़ डे पर काँग्रेस ने नेहरू पर किया बड़ा खुलासा

ये भी पढ़ें : मायावती अपने नाम से पहले सुश्री शब्द का प्रयोग करती हैं, जानिए सुश्री क्या है ?

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

ये भी पढ़ें : World Cancer Day : पढ़िये कैंसर को चकमा देने वाले एक बनारसी युवा की कहानी

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *