Top News देवरिया

पुलवामा में देवरिया के शहीद की पत्नी ने कहा 2 बजे हुयी थी बात, अनहोनी की आशंका थी

विकाश दिवेदी 

देवरिया : पुलवामा में सीआरपीएफ जवानो पे हुए हमले में देवरिया के भटनीथाना  के अन्तर्गत छापिया जयदेव के रहने वाले बिजय कुमार मोर्य भी शहीद हो गए।

शहीद विजय के घर में उनकी पत्नी के आलावा उनकी डेढ़ साल की लड़की आराध्या पिता रामयण सिंह एक बहन व एक भाई है। जब से गाँव के लोगों को अपने लाल की शहादत की खबर मिली है तब से सब की आँखे नम है। वहीं लोगों को इस बात का फख्र भी है कि शहीद उनके गाँव का है।

दूसरी तरफ घंटो बीत जाने के बाद भी जनपद का एक भी जिम्मेदार अधिकारी नही आने से ग्रामीण आक्रोशित है। जबकि बूढ़े पिता के आखो में बेटे  के जुदा होने का गम साफ दिखता है। घर का एक मात्र कमाऊ पुत्र खो देने से आगे के जीवन की चिंता भी पिता के चेहरे पर दिखती है। घर के परिजन और ग्रामीणों ने सीएम को बुलाने की मांग भी की है।

शहीद विजय सन 2009 में सेना में भर्ती हुये थे, उनकी शादी 2014 में विजय लष्मी से हुई। विजय बचपन से खेल कूद में रूचि रखते थे साथ ही पिता की इच्छा से उन्होंनें सीआरपीएफ ज्वाइन जॉइन किया था।

शहीद के पिता रामायण सिंह का कहना है जैसे मेरा बेटा शहीद हुआ है वैसे ही  देश के कई परिवारों ने अपने घर से किसी न किसी को खोया है। अब मेरी सरकार से यह आग्रह है कि पाकिस्तान से आरपार की लड़ाई हो जानी चाहिए।

शहीद की पत्नी ने कहा, उनकी बात अपने पति से गुरुवार को दिन के दो बजे हुई और उन्होने फोन पर बताया यहाँ जाम बहुत लग गया है और कुछ अनहोनी की आशंका है। इसके साथ पत्नी विजयलक्ष्मी का कहना था कि उनके साथ पहले भी ऐसी घटना घट चुकी थी जिसमें वो जिंदा बच गए थे।

वही शहीद की पत्नी की भाभी का कहना था कि वे भी एक सेना परिवार के घर से है। इतने बड़े काफिले पे कैसे हमला हो गया है। अगर यही सीएम की गाड़ी होती तो इस प्रकार की घटना नही होती। साथ ही सरकार को पेंशन की मांग को भी पूरा करना चाहिए।

पुलवामा की घटना पर उत्तर प्रदेश डीजीपी के आदेश के बाद आज सुबह दस बजकर तीस मिनट पर डीजीपी के साथ साथ पूरे उत्तर प्रदेश के सभी पुलिस के जवानों ने दो मिनट का मौन रखा।

जवानों की शहादत पर मौन रखने के बाद लखनऊ के थाना हजरतगंज में जवान अपने आप को नहीं रोक सके और सभी भावुक हो उठे। पुलिस के जवानों ने रूँधे गले से कहा, हमें बदला चाहिए।

उधर प्रधानमंत्री मोदी भी वंदे भारत ट्रेन की शुरुवात कर रहे थे लेकिन मंच से पुलवामा की घटना पर कहा, बदहाली के इस दौर में वो भारत पर इस तरह के हमले करके, पुलवामा जैसी तबाही मचाकर, हमें भी बदहाल करना चाहता है। लेकिन उसके इस मंसूबे का, देश के 130 करोड़ लोग, मिलकर जवाब देंगे, मुंहतोड़ जवाब देंगे। साथियों, पुलवामा हमले के बाद, अभी मन: स्थिति और माहौल दुःख और साथ ही साथ आक्रोश का है। ऐसे हमलों का देश डटकर मुकाबला करेगा, रुकने वाला नहीं है। इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को ये भी लगता है कि वो ऐसी तबाही मचाकर, भारत को बदहाल कर सकता है। उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे। 130 करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे।

ये भी पढ़ें : पुलवामा अटैक के बाद भी नहीं रुके मोदी, देशवासियों को दिया “वंदे भारत” का तोहफा

ये भी पढ़ें : पुलवामा अटैक पर रोया बॉलीवुड, ट्वीट कर दी अपनी प्रतिक्रिया

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

ये भी पढ़ें : बीते 20 सालों में इन 11 सीटों पर नहीं खुला है सपा-बसपा का खाता

ये भी पढ़ें : रोज़ डे पर काँग्रेस ने नेहरू पर किया बड़ा खुलासा

ये भी पढ़ें : मायावती अपने नाम से पहले सुश्री शब्द का प्रयोग करती हैं, जानिए सुश्री क्या है ?

ये भी पढ़ें : यूपी बजट 2019-20 Live : गोरखपुर, बनारस और सैफई के लिए बड़ी खबर

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *