गोरखपुर

पुलवामा अटैक पर हिंदू युवा वाहिनी (भारत) का राष्ट्रपति को पत्र,“जानते हम सब है पर कर कुछ नहीं पाते”

गोरखपुर : गुरुवार को पुलवामा में हुये आतंकी हमले के बाद पूरे देश में आक्रोश जारी है। आम आदमी से लेकर खास आदमी तक सभी इस घटना के बाद अपना दुख और गुस्सा जाहिर कर रहे है।

पुलवामा हमले के बाद अपना रोष व्यक्त करते हुये हिंदू युवा वाहिनी (भारत) ने राष्ट्रपति को एक मांगपत्र लिखा है। राष्ट्रपति को लिखे अपने पत्र में हिंदू युवा वाहिनी ने लिखा है कि,

“आज पुनः एक हमला हुआ है, कश्मीर के पुलवामा मे केंद्रीय रिजर्व पुलिस फ़ोर्स के चौवालीस जवान शहीद हो गये। कई अन्य बुरी तरह घायल हैं। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। यह लगातार हो रहा है। जानते हम सब है पर कर कुछ नहीं पाते। सरकार किसी की भी हो आतंकी हमले लगातार होते ही रहते हैं। आखिर क्यों और कब तक? पूरा देश इस सच्चाई से परिचित है कि भारतीय संविधान का अनुच्छेद 370 वह विषवृक्ष है जो पाकिस्तान प्रायोजित आतंक को संरक्षण दे रहा है। देश यह भी जानता है कि वर्तमान मे जो राजनैतिक दल पूर्ण बहुमत के साथ देश की सरकार चला रहा है उस दल की प्राथमिकताओं में अनुच्छेद 370 को समाप्त करना रहा है।

हिंदू युवा वाहिनी (भारत) ने अपने पत्र में ये भी लिखा है कि अनुच्छेद 370 को समाप्त किये बिना कश्मीर मे आतंकवादी घटनाओं को रोक पाना सम्भव नहीं है। यह जानते हुये भी सरकार अनुच्छेद 370 को खत्म करना तो दूर इस पर चर्चा तक नही कर पायी। यदि सरकार वास्तव में इन अप्रिय घटनाओं को रोकना चाहती है तो उसे अनुच्छेद 370 को खत्म करना होगा अन्यथा देश यह मान बैठेगा कि यह लोग इस तरह की घटनाओं की बार बार पुनरावृत्ति की आड़ मे अपने अपने राजनैतिक स्वार्थ तलाशते रहते हैं।

हिंदू युवा वाहिनी (भारत) ने सरकार से की मांग 

  1. भारतीय सेना को पूर्ण स्वायत्तता दी जाय साथ ही सैनिक कार्यवाहियों को राजनैतिक हस्तक्षेप से मुक्त किया जाय।
  2. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त किया जाय। इसके लिये आवश्यक संविधान संशोधन हेतु आम चुनाव के पूर्व संसद का विशेष सत्र आयोजित हो।
  3. भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपनों का हिंदुस्तान बन सके इसके लिये एक राष्ट्र एक संविधान एक झंडा एक निशान वाले सिद्धांत को व्यवहारिक स्वरूप दिया जाय।
  4. आतंकी हमलो में शहीद परिजनों की सहायता राशि एक करोड़ रूपये की जाय।
  5. अर्धसैनिक बलों को भी पूर्ण सैनिक का दर्जा दिया जाय एवं एक सैनिक को मिलने वाली समस्त सुविधाएं दी जाएँ।

ये भी पढ़ें : पुलवामा अटैक के बाद भी नहीं रुके मोदी, देशवासियों को दिया “वंदे भारत” का तोहफा

ये भी पढ़ें : पुलवामा अटैक पर रोया बॉलीवुड, ट्वीट कर दी अपनी प्रतिक्रिया

ये भी पढ़ें : हरिशंकर तिवारी : 81 के हुए पूर्वांचल की राजनीति के एक ध्रुव, आज भी है युवाओं से ज्यादा रसूख

ये भी पढ़ें : बीते 20 सालों में इन 11 सीटों पर नहीं खुला है सपा-बसपा का खाता

ये भी पढ़ें : रोज़ डे पर काँग्रेस ने नेहरू पर किया बड़ा खुलासा

ये भी पढ़ें : मायावती अपने नाम से पहले सुश्री शब्द का प्रयोग करती हैं, जानिए सुश्री क्या है ?

ये भी पढ़ें : यूपी बजट 2019-20 Live : गोरखपुर, बनारस और सैफई के लिए बड़ी खबर

ये भी पढ़ें : जानिये ऑनलाइन खसरा खतौनी निकालने का सबसे आसान तरीका

ये भी पढ़ें : योगी आदित्यनाथ के सबसे करीबी ने जेल से छूटते ही दी चेतावनी

ये भी पढ़ें : ये 8 खास बातें जान लीजिये नए सीबीआई चीफ के बारे में

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *