Top News गोरखपुर

विवादित ढांचा गिरने के बाद डीएम बन संभाला था फैजाबाद, अब वहीँ से उतरेंगे चुनावी मैदान में

राकेश मिश्रा 
फैजाबाद: 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में कार सेवकों द्वारा विवादित ढांचा गिराया गया था। उस घटनाक्रम से पूरा देश हिल गया था। जगह-जगह दंगे हुए थे। ऐसे में प्रशासन ने सीनियर आईएएस विजय शंकर पांडेय को 7 दिसंबर 1992 को हालत और कानून व्यवस्था सँभालने के लिए फैजाबाद का जिलाधिकारी बना कर भेजा था। कहते हैं कि अपने कार्यकाल के दौरान श्री पांडेय ने ना केवल कानून व्यवस्था को अच्छी तरह संभाला बल्कि फैजाबाद में लोगों को काम कैसे किया जाता है वह भी सीखा दिया। अब यही पूर्व आईएएस फैजाबाद से ही लोकसभा 2019 के चुनावी मैदान में उतर रहे हैं। श्री पांडेय लोक गठबंधन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और इसी पार्टी के टिकट पर चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमाएंगे।
Final Report से एक विशेष बातचीत में श्री पांडेय ने कहा कि वर्तमान में देश की तमाम राजनैतिक पार्टियां भ्रष्टाचार में लिप्त है। अब तक कोई भी सरकार देश में व्याप्त गरीबी, अशिक्षा, कुपोषण, अपराधीकरण को देय कर रिश्वतखोरी और बेईमानी पर रोक नहीं लगा पायी है। जहाँ देखिये वहां आपको स्थिति गंभीर ही नजर आएगी। देश में हर मोर्चे पर भारी सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि सही सोच वाले, ईमानदार, कर्मठ, अनुभवी लोग देश की राजनीति को साफ करने तथा आम जनता को सुखमय जीवन देने के लिए राजनीति में आएं।
प्रदेश में मायावती सरकार के दौरान अपर मुख्य सचिव और केंद्र सरकार में सचिव पद पर तैनात रहे श्री पांडेय ने कहा कि पिछले दस वर्षों से भारत पुनरोत्थान अभियान के मंच से समाज की सेवा करने के पश्चात अब हमें ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इस प्रदेश का पुनरोत्थान बिना राजनैतिक हस्तक्षेप के सम्भव नहीं है।
प्रदेश के अपर कैबिनेट सेक्रेटरी रह चुके श्री पांडेय ने कहा लोक गठबंधन पार्टी इस संकल्प के साथ आ रही है कि प्रदेश को पूर्णतया भ्रष्टाचार रहित सुशासन देते हुए विकास को सही पटरी पर चला सके। यह पार्टी कानून व्यवस्था और अपराध से प्रतिदिन परेशान होने वाली जनता को भयविहीन एवं अपराधमुक्त वातावरण दे सकें इसके लिए दृढ़संकल्प लेकर आपके सामने उपस्थित हैं।
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजयशंकर पांडेय ने बताया कि पार्टी गुजरात व यूपी की कुल 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। यूपी में 15 सीटों पर उम्मीदवार उतारने पर विचार हो रहा है। उन्होंने कहा कि संसदीय क्षेत्र के लगभग 650 से ज्यादा गांवों का भ्रमण कर चुके हैं। इस दौरान कई समस्याएं सामने आईं। भ्रष्टाचार की वजह से लोगों को मूलभूत सुविधाएं तक नहीं मिल पा रही हैं। इसकी वजह राजनीति का जाति, धर्म और धन व बाहुबल से मुक्त नहीं हो पाना है। पूर्व आइएएस ने कहाकि आजादी के 70 साल बाद भी लोगों को मूलभूत जरूरतों के लिए भटकना पड़ रहा है।
श्री पांडेय ने आगे कहा कि वो उत्तर प्रदेश के कई जिलों में डीएम और कई मंडलों के मंडलायुक्त रह चुके हैं। इसलिए सेवा से रिटायर होने के बाद वो इस प्रदेश की मुलभुत परेशानियों से भली भांति वाकिफ थे। उन्होंने बताया कि पिछले 10 वर्षों से भारत पुनरोत्थान अभियान के साथ और अब लोक गठबंधन पार्टी से जुड़कर प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में विस्तृत प्रयास, गरीब जनता को संगठित करने, उनकी समस्याओं को दूर करने, उनमें भाईचारा पैदा करने तथा उनमें नैतिकता बनाए रखने का कार्य किये हैं।
उन्होंने बताया कि भारत पुनरोत्थान अभियान ने प्रदेश के 75 जिलों में खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी इकाइयों को मजबूत किया है और यही इकाइयां पिछले 10 सालों में उसकी सफलता का राज है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *