आजमगढ़ मंडल बलिया

VIDEO: अधिकारियों और कोटेदार के बीच खाद्यान्न का खेल, डीएम ने कहा होगी कार्यवाही

FIBSOtech

बलिया (संजय तिवारी): योगी सरकार लॉक डाउन के दौरान प्रयास कर रही है कि हर ग़रीबो तक खाद्यान्न पहुँचे। लेकिन सरकार की मंशा पर अधिकारियो से लेकर कोटेदारो तक पानी फ़ेर रहे हैं। जिसका नज़ारा बलिया जनपद के बांसडीह तहसील क्षेत्र के मैरिटार गांव में देखने को मिला।

कोटेदार जनार्दन सिंह पर ग्रामीणों ने खाद्यान्न वितरण में धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि अंगूठा लगाने के बाद दूसरे महीने राशन देता है। सेक्रेटरी के सामने ग्रामीण महिलाओं ने कोटेदार के दरवाजे पर किया हंगामा किया।भागते रहे सेक्रेटरी।

बलिया जनपद का बांसडीह तहसील क्षेत्र का मैरिटार गांव हैं। जहां कोटेदार जनार्दन सिंह की मनमानी के आगे सभी अधिकारी बेबस भी नजर आ रहे हैं। यूपी में योगी सरकार गरीबो को खाद्यान्न देने का दावा कर रही हैं। लेकिन कोटेदार की दबंगई के आगे किसी की एक नही चलती हैं।चाहे अधिकारी हो या खाद्यान्न लेने वाला गरीब परिवार। कोटेदार अंगूठा एक महीना पहले लागवा लेते हैं और राशन दूसरे महीने देते हैं। वही नहीं इन गरीब महिलाओं को खाद्यान्न लेने के लिए कोटेदार शाम को बुलाते हैं।

कोटेदार के डर से शाम को कोई राशन लेने नही जाता हैं।कोटेदार के द्वारा जिससे कभी भी कोई भी घटना घट सकती हैं। अगर किसी को राशन देते भी तो पैसे अधिक लेने का ग्रामीणों ने आरोप लगाया।इतना ही नही सेक्रेटरी के सामने ही ग्रामीण महिलाओं ने कोटेदार के दरवाजे पर हंगामा भी किया।

बेबस दिखे सेक्रेटरी

हालांकि जब ग्राम प्रधान से इस बाबत बात किया गया तो कहना है कि मुझे इस घटना की कोई जानकारी नहीं है। लेकिन उन्होंने कहा कि महिलाओं ने उन्हें बताया हैं कि कोटेदार मनमानी कर रहे हैं। ग्राम प्रधान ने अधिकारियो को पत्र लिख कर मामले को अवगत कराने की बात कही। बता दें कि पहले भी कई बार ग्राम प्रधान ने जिलापूर्ति निरीक्षक को पत्र के माध्यम से अवगत कराया था। लेकिन जिलापूर्ति निरीक्षक ने कई महीनो बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नही की। जिससे कोटेदार की मनमानी चलती आ रही।और कोटेदार से ग्राम प्रधान भी बेबस नज़र आ रहा हैं।

जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने कहाँ है की राज्य सरकार की मंशा है कि गरीब तकबे के लोग है जो खाद्यान्न की कटगरी में आते हैं। जिनको खाद्यान्न की निःशुल्क वितरण की व्यवस्था किया गया हैं।और ऐसे समय में वितरण के समय कोटेदार की बदमासी होगी या अधिकारी की होगी तो बर्दास्त नही किया जायेगा।सबको निर्देश दिया गया हैं। सभी एसडीएम को, सभी सप्लाई विभाग को कभी कभी शिकायते आ रही हैं लोगो की तो तत्काल दिखवाया जा रहा है।और सम्बंधित के खिलाफ कार्यवाही किया जा रहा हैं।10 कोटेदारो के खिलाफ 10/7 के तहत कार्यवाही की गई हैं।लगभग 15 को सस्पेंड किया गया हैं और नियमित रूप से कार्यवाही की जा रही हैं। उसकी जांच कराकर कार्यवाही की जायेगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *