गोरखपुर गोरखपुर मंडल

पैनेसिया हॉस्पिटल पुरी तरह सील, मालिकाना हक़ को लेकर दो पक्षों में चल रहा है विवाद

about-us-wel

गोरखपुर (अरविन्द श्रीवास्तव): महानगर के छात्र संघ चौराहा स्थित होप पैनेसिया सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को आज पुरी तरह से सील कर दिया गया। नगर मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव के निर्देश पर मजिस्ट्रेट/ नायब तहसीलदार राधेश्याम गुप्ता के नेतृत्व में एडिशनल सीएमओ व चौकी प्रभारी कलेक्ट्रेट के मौजूदगी में हॉस्पिटल को सील किया गया।

मजिस्ट्रेट/ नायब तहसीलदार राधेश्याम गुप्ता ने बताया कि 22 जून को हॉस्पिटल में दो पक्षों में मालिकाना हक को लेकर विवाद हुआ था उसको ध्यान में रखते हुए धारा 145 की कार्यवाही करते हुए हॉस्पिटल को पूरा सील किया गया ताकि कोई विवाद न हो।

बता दें कि 22 जून को अस्पताल पर कब्जे को लेकर दो पक्षों विजय पांडेय और डॉ प्रमोद सिंह के बीच जमकर विवाद हुआ था। दोनों पक्षों के बीच जमकर गाली-गलौच भी हुई थी। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ था।

विवाद की जानकारी मिलते ही कैंट पुलिस ने मौके पर पंहुच कर दोनों पक्षों के करीब आठ लोगों को पाबंद कर दिया पुलिस ने सभी को सीआरपीसी के धारा 107 और 116 में पाबंद किया था। जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन ने एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता, एडीएम सिटी आरके श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट अबिहनाव रंजन, और तहसीलदार संजीव दीक्षित की मौजूदगी में अस्पताल को सील करवा दिया था। लेकिन उसमे कुछ मरीज रह गए थे।

आज अस्पताल के पुरी तरह से खाली होने पर इसको पुरी से सील कर दिया गया। बता दें कि 22 जून को अस्पताल के निदेशक मंडल के सदस्य विजय पांडेय और रवि श्रीवास्तव अस्पताल में थे। इसी दौरान निदेशक मंडल के एक अन्य सदस्य डॉ प्रमोद सिंह अपने रिश्तेदार प्रणव वसिष्ठ और कुछ अन्य लोगों के साथ वहां पंहुचे। दोनों पक्षों में अस्पताल के मालिकाना हक़ को लेकर विवाद शुरू हो गया। इस दौरान बाँसगाँव भाजपा सांसद कमलेश पासवान भी मौजूद थे। बताया जा रहा है कि प्रमोद सिंह ने कमेलश पासवान और उनकी पत्नी को निदेशक मंडल में शामिल किया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *