गोरखपुर गोरखपुर मंडल

गोरखपुर में कल से खुलेंगी स्टेशनरी, मोबाइल, इलेक्ट्रानिक और अन्य कई दुकानें, देखिये क्या हैं शर्तें

FIBSOtech

गोरखपुर(अरविन्द श्रीवास्तव): महानगर में मंगलवार से स्टेशनरी, इलेक्ट्रानिक, बिल्डिंग मैटेरियल और आप्टिकल शॉप समेत आठ प्रतिष्ठानों को सशर्त खोलने की मंजूरी दे दी गयी है। सभी दुकानें सुबह 11 बजे खुलेंगी और शाम पांच बजे बंद होंगी। जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन ने इन सभी आवश्यक सेवाओं में शामिल प्रतिष्ठानों को कड़ी शर्तों के साथ सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक संचालित करने की अनुमति दे दी है।

मंगलवार से ये प्रतिष्ठान खुलेंगे:
–कृषि यंत्र/उपकरण/कृषि उपज हेतु कीटनाशक/दवा/बीज भण्डार/उर्वरक
–सीमेंट/बालू/मोरंग/गिट्टी/सरिया/निर्माण कार्य में प्रयुक्त होने वाले हार्डवेयर की दुकानें
–आटो मोबाइल पार्ट/बैट्री/टायर/ट्यूब शाप/मोटर रिपेयर वर्कशाप की भी दुकानें
–चश्मा, मोबाइल शाप/ पार्ट/मरम्मत, इलेक्ट्रीकल सामग्री/पार्ट/मरम्मत, इलेक्ट्रानिक्स उपकरण/पार्ट/मरम्मत आदि की दुकानें

शर्तें
–इन दुकानों पर अत्यंत जरुरी होने पर जाएं
–फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें
–सुबह 11 से शाम पांच बजे तक खुलेंगे प्रतिष्ठान
–दुकानदार/प्रतिष्ठान द्वारा अपने लिए एवं अपने कर्मियों के आवागमन के लिए ई-पास हेतु आवेदन करना होगा
–ई-पास जारी होने के बाद निर्धारित समयावधि में प्रतिष्ठान/दुकान खोलने की अनुमति होगी।
–दुकान शाम पांच बजे तक अनिवार्य रूप से बंद कर दी जाएगी।
–दुकानदार/दुकान के कर्मचारियों के लिए आवागमन की अनुमति सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक ही होगी
–दुकानदार और दुकान कर्मचारियों को आवागमन के लिए चार पहिया वाहनों में अधिकतम दो यात्री (ड्राइवर के अतिरिक्त) और दो पहिया वाहनों पर केवल एक व्यक्ति (पीछे की सीट पर बैठकर यात्रा की अनुमति नहीं होगी।)
–दुकानों में फिजिकल डिस्टेंसिंग (छह फीट की दूरी) का कड़ाई से पालन करना होगा
–दुकान के सामने/अंदर एक साथ एक समय में अधिकतम पांच से अधिक ग्राहकों को खड़ा नहीं कराया जाएगा और उनमें भी फिजिकल डिस्टेंसिंग हेतु कम से कम दो गज की दूरी होगी।
–हाथ धोने के लिए साबुन, सैनिटाइजर व व्यक्तिगत साफ-सफाई के लिए व्यवस्था की जाएगी।
–दुकानदार/दुकान के कार्मिंकों और ग्राहकों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनना होगा।
–दुकानदार/प्रतिष्ठान के प्रबंधक द्वारा बुखार/सर्दी/खांसी के लक्षण वाले ग्राहकों/कार्मिकों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
–बड़ी दुकानों/प्रतिष्ठान, जिसमे 30 से अधिक कार्मिक कार्य करते हों, ऐसे प्रतिष्ठान को 50 प्रतिशत कार्मिक की क्षमता से ही संचालित किया जाएगा, मसलन अधिकतम एक साथ 15 से अधिक कार्मिक कार्य नहीं करेगे।
–बड़ी दुकानों/प्रतिष्ठान पर प्रवेश करने और बाहर निकलने के लिए थर्मल स्कैनिंग अनिवार्य होगी।

डीएम ने रविवार के आदेश सोमवार तक बदला
बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ का गृहनगर गोरखपुर अभी ऑरेंज जोन में है। बाकि जगहों की तरह यहाँ भी छूट मिलने की उम्मीद थी। लेकिन बीती शाम डीएम ने लॉकडाउन के दौरान किसी भी तरह की छूट देने से इनकार कर दिया था। हालांकि सोमवार को डीएम ने छूट देते हुए शराब की दुकानों को खोलने की अनुजती दे दी।

गोरखपुर में अभी तक तीन कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमे से एक उरुवा ब्लॉक, एक बाँसगाँव और एक शहर के ही बिछिया कॉलोनी के रहने वाले थे। इनमे से दो दिल्ली से तो एक मुंबई से आया था। सभी का बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है।

जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पाण्डियन ने रविवार को कहा था कि गोरखपुर में लॉकडाउन यथावत चलेगा और उसमें कोई भी छूट नहीं होगी। रोजगार और उद्योगों को बढ़ावा देने वाले कदम जरूर उठाए जाएंगे।

गौरतलब है कि सोमवार से उत्तर प्रदेश में शराब की बिक्री का आदेश पहले ही दे दिया गया था। लॉकडाउन के दौरान ग्रीन और ऑरेंज जोन में शराब की बिक्री पर छूट दी गई है। हालांकि हॉटस्पॉट या कंटेनमेंट जोन में शराब की बिक्री पर पाबंदी रहेगी। वहीं होटल और रेस्टोरेंट के बार में फिलहाल शराब नहीं बेची जा सकेगी।

यूपी सरकार ने शराब की बिक्री के लिए समयसीमा भी निर्धारित की है। सरकार ने बताया कि आबकारी विभाग की मात्र एकल दुकानों को ही सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक शराब की बिक्री की अनुमति है। वहीं सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए शराब बिक्री के निर्देश दिए गए हैं। एक दुकान पर एक वक्त में सिर्फ 5 लोग ही शराब खरीद सकेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *