गोरखपुर गोरखपुर मंडल

कोरोना संक्रमित महिला की लखनऊ से लौटते वक्त रास्ते में हुई मौत, पुलिस ने कराया दाह संस्कार

about-us-wel

गोरखपुर (यशोदा नंद सिंह): चौरी चौरा थाना क्षेत्र के बाल बुजुर्ग गांव की कोरोना पाजटिव पाई गई कमलावती देवी (50) की लखनऊ से लौटते वक्त बस्ती के पास मौत हो गई। पुलिस ने उसके पति कन्हैया यादव सहित अन्य परिजनों की उपस्थिति में शुक्रवार की देर शाम मझना नाला के पास शव का दाह संस्कार करा दिया।

पुलिस ने गांव को सौ मीटर के दायरे में आवागमन सील कर दिया है। इंस्पेक्टर सूर्यभान सिंह ने बताया कि कोरोना पाजटिव महिला के पति, पुत्र व पुत्री को भी स्वास्थ्य परीक्षण के लिए नंदा नगर स्थित टीवी अस्पताल में भेज दिया गया है।

बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस के चलते मौत की शिकार महिला 17 जून को कुशीनगर जनपद के हाटा कोतवाली अंतर्गत एक गांव में अपने रिश्तेदार के घर किसी मांगलिक कार्यक्रम में गई थी। वहां पर दो घंटे रुकने के बाद अपने पुत्र राजन यादव के साथ मोटर साइकिल से घर लौट रही थी।

कमलावती अभी गांव से कुछ दूर स्थित भुसौलवा घाट पर पहुंची ही थी कि वह बाईक से गिर पड़ी और उसके सिर में गम्भीर चोट लग गया। परिजन आनन-फानन में तत्काल पीएचसी करमहा ले गए,जहाँ पर महिला की हालत गम्भीर देख कर डाक्टरों ने बेसिक उपचार के बाद मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मेडिकल कॉलेज से महिला को एसजीपीजीआई, लखनऊ भेजा गया।

लेकिन एम्बुलेंस के चालक ने कमलावती को एफ आई 37 कैन्ट रोड लखनऊ ले कर चला गया। महिला की गम्भीर हालत देखकर वहां के भी डाक्टर ने एसजीपीजीआई भेज दिया। लेकिन घर वाले वहां ले जाने की जगह घर के लिए वापस चल दिए जहाँ पर बस्ती के पास महिला की मौत हो गई है।

चौरी चौरा पहुँचने पर पुलिस ने उसके पति कन्हैया यादव पुत्र राजन की मौजूदगी में आज शुक्रवार को मझना नाला पर कमलावती के शव का दाह संस्कार कर दिया। स्वास्थ्य परीक्षण के लिए पुलिस ने सरकारी एम्बुलेंस से कमलावती के पति, पुत्र व पुत्री को भी नंदा नगर स्थित टीवी अस्पताल में भेज दिया गया है। पुलिस ने गांव को सौ मीटर के दायरे में आवागमन सील कर दिया है। कोरोना संक्रमित होने के कारण महिला की मौत से पुरे गांव में भय व्याप्त है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *