गोरखपुर गोरखपुर मंडल

योगी ने गोरखपुर लौटे मजदुर से कहा ‘ब्रह्मपुर में ही करें सोफे का काम, खोलें बड़ा शोरूम’, होगी पूरी मदद

FIBSOtech

लखनऊ: “हमने अब तक 8 हजार से ज्यादा मास्क बनाए हैं। इनका भुगतान भी हो गया है। हमारे पास इसी तरह काम आता रहे। अब हम बाहर नहीं जाना चाहते योगी जी।” ये शब्द उस प्रवासी मजदूर के हैं, जो कुछ दिनों पहले तक दिल्ली में सिलाई का काम करता था, लेकिन लॉकडाउन के बाद लौटकर वह अपने घर अलीगढ़ आ गया है।

बात टिंकू की हो रही है जो इन दिनों अपनी पत्नी पूजा के साथ स्वयंसहायता समूह से जुड़कर मास्क बनाने में जुटा है।

दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में स्वयंसहायता समूहों से जुड़ीं महिलाओं और प्रवासी मजदूरों से बातचीत कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कई महिलाओं और प्रवासी मजदूरों से उनका हाल-चाल जाना। उन्हें अपने काम को गुणवत्तापूर्ण करने के लिए प्रोत्साहित भी किया। साथ ही हर संभव मदद का भरोसा दिया।

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को 3198 स्वयं सहायता समूहों को 218़ 49 करोड़ रुपये रिवाल्विंग फंड और सामुदायिक निवेश निधि को ऑनलाइन ट्रांसफर किया। इसी दौरान उन्होंने प्रवासी श्रमिकों और स्वयंसहायता समूह से जुड़ी महिलाओं से बात भी की।

मुख्यमंत्री ने बिजनौर की लाभार्थी उषा देवी से भी बात की और कहा कि अपने काम को बढ़िया ढंग से करते रहें। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान आप लोग अधिक से अधिक मास्क बनाएं। सरकार आपको कुछ सब्सिडी भी उपलब्ध कराएगी, जिससे सभी लोगों को सस्ते मास्क उपलब्ध हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने उनके पति सुनील कुमार से भी बातचीत की, जो दिल्ली से वापस आए हैं। योगी ने कहा, “सरकार बैंकों से आसान किस्तों पर कर्ज दिला रही है। ऐसे में आप भी अपने साथ कुछ लोगों को जोड़िए और एक अच्छा शोरूम खोलिए।”

मुख्यमंत्री ने अंबेडकरनगर की अनीता से भी बातचीत की और उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा, “आप लोग बहुत अच्छे मास्क बना रही हैं। घर का काम करते-करते आप लोग मुनाफा भी कमा रही हैं।” वहीं जब अनीता ने आवास के लिए योगी से कहा तो उन्होंने तत्काल सभी जरूरतमंद लोगों को आवास दिलाने के भी आदेश दे दिए।”

‘बर्तन भी धुलवाएं, आपका काम होगा और उनकी कोरोना से सुरक्षा’

मुख्यमंत्री ने मुंबई से लौटे प्रवासी मजदूर अशोक कुमार से भी बात की। उन्होंने कहा कि अब टांडा में ही अपना काम शुरू करें, सरकार आपकी पूरी मदद करेगी। मुख्यमंत्री ने अपनों की तरह बात करते हुए उनकी पत्नी से पूछा, “आप अपने पति से बर्तन तो नहीं साफ कराती हैं? कोरोना में तो वैसे भी बार-बार हाथ धुलने को कहा जाता है, ऐसे में बर्तन साफ करने से तो यूं ही हाथ साफ होते रहेंगे।”

‘ब्रह्मपुर में ही करें सोफे का काम, खोलें बड़ा शोरूम’

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान योगी ने गोरखपुर की रिंकू देवी से भी बातचीत की। उन्होंने समूह के कामों की जानकारी लेते हुए भविष्य की प्लानिंग को भी जाना। यही नहीं, मुख्यमंत्री ने मुंबई से लौटे उनके पति सुनील कुमार से भी बातचीत की। सुनील कुमार से बताया कि वो मुंबई में सोफे बनाने का काम करते थे। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी ने उन्हें ब्रह्मपुर में ही सोफे का काम करने को कहा और आश्वासन दिया कि सरकार की तरफ से पूरा सहयोग मिलेगा। मुख्यमंत्री ने उन्हें कर्ज के लिए बैंक में आवेदन कर एक बढ़िया शोरूम खोलने की भी सलाह दी।

यही नहीं, मुख्यमंत्री ने मजाकिया अंदाज में पूछा कि झगड़ा तो नहीं होता है आप दोनों में? इसके बाद वहां मौजूद सभी अधिकारी अपनी हंसी नहीं रोक पाए। (आईएएनएस)

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *